सिर्फ दो गेंदों में इस खिलाड़ी ने KKR से छीन लिया आईपीएल कप। चेन्नई की हुई जीत।

  • Whatsapp

चेन्नई सुपर किंग्स ने IPL2021 का खिताब जीत लिया है। कुल चौथी बार। CSK ने फाइनल में कोलकाता नाइट राइडर्स को 27 रन से हराया। इससे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान ऑयन मॉर्गन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी। चेन्नई को बेहतर शुरुआत की जरूरत थी। रुतुराज गायकवाड़ और फाफ डु प्लेसी ने निराश नहीं किया। पहले विकेट के लिए दोनों बल्लेबाजों ने 61 रन जोड़े। रुतुराज गायकवाड़ ने 27 गेंदों में 32 रन की पारी खेली। उन्हें सुनील नरेन ने शिवम मावी के हाथों कैच आउट कराया।

चेन्नई को मिला आईपीएल 21 का कप

चेन्नई सुपर किंग्स ने IPL2021 का खिताब जीत लिया है। कुल चौथी बार। CSK ने फाइनल में कोलकाता नाइट राइडर्स को 27 रन से हराया।

इससे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान ऑयन मॉर्गन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी। चेन्नई को बेहतर शुरुआत की जरूरत थी। रुतुराज गायकवाड़ और फाफ डु प्लेसी ने निराश नहीं किया।

सुनील नरेन ने किया कमाल

पहले विकेट के लिए दोनों बल्लेबाजों ने 61 रन जोड़े. रुतुराज गायकवाड़ ने 27 गेंदों में 32 रन की पारी खेली। उन्हें सुनील नरेन ने शिवम मावी के हाथों कैच आउट कराया।

इसके बाद रॉबिन उथप्पा आए। और अलग ही मूड में दिखे। ताबड़तोड़ तीन छक्के लगाते हुए 31 रन बना डाले।

उथप्पा को नरेन ने आउट किया। इस बीच फाफ डु प्लेसी ने अपना पचासा भी पूरा किया।

चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए मोईन अली ने धीमी शुरुआत की. बाद में गियर चेंज करते हुए जल्दी दो चौके और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 37 रन ठोके।

वहीं, फाफ डु प्लेसी ने 59 गेंदों में 86 रन की पारी खेली। और टीम के स्कोर को 192 रन तक पहुंचाया।

चेन्नई ने 27 रन से जीता मैच

193 रन के जवाब में KKR 165 रन ही बना सकी. टीम को बेहतर शुरुआत मिली थी।

शुभमन गिल और वेंकटेश अय्यर ने पहले विकेट के लिए 91 रन जोड़ दिए। दोनों बल्लेबाजों ने पचासा जरूर लगाया, लेकिन पारी को आगे नहीं खींच सके।

शुभमन ने 43 गेंदों में 51 रन की पारी खेली। जबकि वेंकटेश ने 32 गेंदों में 50 रन की पारी खेली। इस दौरान पांच चौके और तीन छक्के लगाए।

इसके बाद KKR का कोई भी बल्लेबाज टिक नहीं सका. पूरी टीम 165 रन ही बना सकी।

और चेन्नई सुपर किंग्स ने 27 रन से खिताबी जीत हासिल की। बता दें कि चेन्नई की जीत में कई खिलाड़ियों को अहम योगदान रहा।

डु प्लेसी, रुतुराज, रविन्द्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो और जोश हेजलवुड. लेकिन सबसे बड़ा काम शार्दुल ठाकुर ने किया। ऐसा भी कह सकते हैं कि मैच का पासा तो ठाकुर ने ही पलटा।

दरअसल, KKR दस ओवर खेल चुकी थी. और एक भी विकेट नहीं गिरा था। वेंकटेश अय्यर और शुभमन गिल चेन्नई के गेंदबाजों की धुनाई कर रहे थे।

और लग रहा था कि KKR आसानी से लक्ष्य हासिल कर लेगा। लेकिन 11वें ओवर में सब कुछ बदल गया। शार्दुल ठाकुर गेंदबाजी करने आए।

ओवर की चौथी गेंद पर ठाकुर ने वेंकटेश अय्यर को आउट कर दिया। आउटसाइड ऑफ स्टंप की गेंद थी।

अय्यर ने एक्स्ट्रा ओवर के उपर से उठाकर मारा। और रविन्द्र जडेजा ने डीप में शानदार कैच लपका। अय्यर 32 गेंदों में 50 रन बनाकर आउट हुए।

पांचवीं गेंद पर शुभमन गिल ने एक सिंगल लिया और स्ट्राइक पर नए बल्लेबाज नितीश राणा थे।

शार्दुल ने आगे गेंद फेंकी। और मिड ऑफ पर नितीश राणा ने डु प्लेसी को एक आसान कैच थमा दिया।

राणा बिना खाता खोले पैवेलियन लौटे. यहीं से मोमेंटम चेन्नई के पक्ष में आ गया। इसके बाद राहुल त्रिपाठी के रूप में ठाकुर ने अपना तीसरा विकेट हासिल किया।

अपने चार ओवर के स्पेल में शार्दुल ने 38 रन देकर तीन विकेट हासिल किये। और चेन्नई की खिताबी जीत में सबसे बड़ी भूमिका अदा की।

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *