सूरत में बेकुसूर युवक को खम्बे से बांधकर मार डाला 7 युवकों ने। मृतक मगन कोली केवल 20 साल का था।

  • Whatsapp

सूरत के इंडस्ट्रियल एरिया सचिन में 7 लोगों ने एक मजदूर को चोर समझकर खंभे से बांधकर बेरहमी से पीटा। गंभीर चोट लगने से युवक की मौके पर ही मौत हो गई। सचिन पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस इस मामले में अब आगे की जांच कर रही है।

केवल 20 साल का था मगन कोली

जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र का रहने वाला 20 साल का समाधान मगन कोली, सचिन में ईंट के भट्‌टे पर काम करता था।

Read More

समाधान ईंट के भट्‌टे पर रहता भी था। सोमवार को रात 2 बजे समाधान श्रीराम नगर सोसाइटी में एक मकान के पास से जा रहा था, तभी सोसाइटी में रहने वालों ने चोर समझकर उसे पकड़ लिया और बिजली के खंभे से बांधकर पिटाई करने लगे।

गम्भीर मार से मौके पर ही हुई मौत

लोगों ने पीड़ित को इतनी बुरी तरह पीटा कि उसकी वहीं मौके पर ही मौत हो गई। जिसके बाद घटना की जानकारी मिलते ही सचिन पुलिस मौके पर पहुंच गई।

पुलिस ने शिव गंगाराम पाल, सुबोध सिंह श्रीसुरेश राम, लक्ष्मी माधव महंतो, सुरेंद्र जवाहर महतो, देवराज रामनाथ विश्वकर्मा, सुनील श्रीदालकिशन प्रसाद और पप्पू कुमार मुद्रिका प्रसाद वर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में 24 साल के राहुल राजू आहिर ने सचिन थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

पुलिस ने ही किया था शिकायतकर्ता को फोन

शिकायतकर्ता राहुल ने बताया कि 23 नवंबर को सुबह 4 बजे उसके मोबाइल पर पुलिस का फोन आया कि श्रीराम नगर, गुजरात हाउसिंग बोर्ड के पास युवक मृत पड़ा है।

राजू तुरंत मौके पर पहुंच गया। मकान नं. 3077 के सामने लोगों की भारी भीड़ जमा थी। राजू ने देखा तो उसके मामा के गांव में रहने वाला समाधान मृत पड़ा था।

चोर होने के शक पर मार डाला

पुलिस ने बताया कि मंगलवार शाम कोली भट्टे से निकलकर किसी काम से सूरत आया था। बुधवार तड़के करीब 4 बजे उसने सचिन के गुजरात हाउसिंग बोर्ड के श्री रामनगर स्थित श्रमिक कॉलोनी के एक मकान का दरवाजा खटखटाया।

मकान मालिक शिव गगारम पाल ने दरवाजा खोला। उसे कोली पर चोर होने का शक हुआ।

उसने तुरंत इस की पड़ोसियों को सूचना दी। पुलिस ने कहा कि जल्द ही, लोगों ने इकट्ठा होकर कोली को पकड़ लिया और उसे लकड़ी के डंडे, मुट्ठियों, लातों से बुरी तरह पीटने लगे।

इस दौरान स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। जब सचिन पुलिस मौके पर पहुंची। तो मृत युवक के मुंह और शरीर के अन्य हिस्सों से खून निकल रहा था।

जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसके मोबाइल फोन से सचिन स्लम बोर्ड निवासी उसके चचेरे भाई राहुल अहिर को फोन किया, जिन्होंने मृतक युवक की पहचान समाधान कोली के रूप में की। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेजा दिया गया है।

क्या अब नए भारत में सड़कों पर ऐसे ही इंसाफ होगा या इंसाफ के नाम पर हत्या होगी? अदालत और कानून की सुरक्षा कौन करेगा? क्या गुजरात मॉडल में कानून व्यवस्था भी आती है या नहीं?

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *