नया दिन नई एफआईआर… अगर वे लोग मुझे अरेस्ट करने आएं तो घर पर मेरा मूड कुछ ऐसा है – कंगना रनौत

  • Whatsapp

बॉलीवुड की सनसनीखेज एक्ट्रेस Kangana Ranaut अपनी फिल्मों में काफी बिजी हैं। लेकिन अपने काम से अलग वह अपने देश और दुनिया में होने वाली घटनाओं पर लगातार अपने बयान भी देती रहती हैं। वह आए दिन अपने बयानों के कारण विवादों में घिर जाती हैं।

हाल ही में खबर आई कि उनके खिलाफ सिख समुदाए ने FIR कराई है। जिसके बाद कंगना रनौत  ने बोल्ड तस्वीरों के साथ जवाब दिया है।

Read More

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर कुछ देर पहले ही ये तस्वीर शेयर की है, इनमें कंगना ब्लैक कलर की लैदर बेस्ड ड्रेस में नजर आ रही हैं। उन्होंने हाई स्लिट स्कर्ट के साथ नॉटेड बैक वाला बोल्ड टॉप पहना हुआ है।

इसके साथ वह हाथ में वाइन का ग्लास भी लिए दिख रही हैं। देखिए कंगना का ये अंदाज…

इस तस्वीर को देखकर साफ जाहिर हो रहा है कि अपने खिलाफ हुई FIR को कंगना ने नजरअंदाज कर दिया है।

वह अपने विरोधियों को अपनी तस्वीर पर एक मैसेज लिखकर जवाब देती नजर आ रही हैं। उन्होंने तस्वीर के साथ लिखा है,

‘नया दिन नई एफआईआर… अगर वे लोग मुझे अरेस्ट करने आएं तो घर पर मेरा मूड कुछ ऐसा है।’

आपको बता दें कि कंगना ने कृषि कानून वापस होने के बाद अपनी इंस्टा स्टोरी पर अपने विचार लिखे थे।

जिसमें उन्होंने कहा था कि खालिस्तानी आतंकवादी आज भले ही सरकार का हाथ मरोड़ रहे हों, लेकिन उस महिला को मत भूलना।

एकमात्र महिला प्रधानमंत्री (इंदिरा गांधी) जिसने इन लोगों को अपनी जूती के नीचे कुचल दिया था।

उसने इस देश को कितनी भी तकलीफ दी हो…अपनी जान की कीमत पर उन्हें मच्छरों की तरह कुचल दिया था, मगर देश के टुकड़े नहीं होने दिए, उनकी मृत्यु के दशक के बाद भी, आज भी उसके नाम से ये लोग कांपते हैं, इनको वैसा ही गुरु चाहिए।

आखिर क्या कह दिया कंगना ने ऐसा

आपको बता दें कि कंगना ने कृषि कानून वापस होने के बाद अपनी इंस्टा स्टोरी पर अपने विचार लिखे थे।

जिसमें उन्होंने कहा था कि खालिस्तानी आतंकवादी आज भले ही सरकार का हाथ मरोड़ रहे हों, लेकिन उस महिला को मत भूलना। एकमात्र महिला प्रधानमंत्री (इंदिरा गांधी) जिसने इन लोगों को अपनी जूती के नीचे कुचल दिया था।

उसने इस देश को कितनी भी तकलीफ दी हो… अपनी जान की कीमत पर उन्हें मच्छरों की तरह कुचल दिया था, मगर देश के टुकड़े नहीं होने दिए, उनकी मृत्यु के दशक के बाद भी, आज भी उसके नाम से ये लोग कांपते हैं, इनको वैसा ही गुरु चाहिए।

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *