सोनू सूद के घर छापा मारने वाले अधिकारी करने लगे सोनू की तारीफ। एक्टर के नेक कार्यों ने दिल पिघला दिया।

  • Whatsapp

सोनू सूद (Sonu Sood) के घर चार दिनों की कार्रवाई के बाद टीम (Income Tax Department) जाने लगी तो उन्होंने माना कि अब तक सबसे बेस्ट एक्सपिरिएंस रहा। सोनू ने कहा मैं आप लोगों को मिस करूंगा, इस पर सब हंसने लगे।

एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) के लिए पिछला हफ्ता काफी मुश्किल भरा रहा। एक्टर के घर पर आयकर विभाग (Income Tax Department) की छापेमारी हुई।

सोनू पर उनके फाउंडेशन के तहत फंड कलेक्शन और उसके इस्तेमाल को लेकर आरोप लगाए गए थे।

सोनू सूद का फाउंडेशन है गरीबों को समर्पित

हालांकि सोनू इस सबके बीच हमेशा की तरह जरूरतमंदों की मदद करते रहे। सोनू का कहना है कि वह अपने प्रोफेशनल और मानवीय लक्ष्य को लेकर दृढ़ संकल्पित हैं। एक्टर ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों के बारे में खुलकर बात की.

टाइम्स से बातचीत में सोनू सूद ने बताया कि,

‘इनकम टैक्स ऑफिसर को सारे डॉक्यूमेंट्स मुहैया करवाए। मेरे पास जयपुर और लखनऊ में एक इंच जमीन नहीं है, जैसा मेरे ऊपर आरोप लगाया गया था।

अवैध रुप से विदेशी धन लेने का आरोप है तो फॉरेन कॉन्ट्रिब्यूशन रेगुलेशन एक्ट (FCRA) के तहत कोई भी कंपनी या फाउंडेशन जो तीन साल से अधिक समय से लिस्टेड है वह फंड ले सकती है।

मेरी संस्था रजिस्टर्ड नहीं है तो मुझे फंड नहीं मिल सकता। क्राउडफंडिग प्लेटफॉर्म के पास फंड है।

मैं तो उस प्लेटफॉर्म के लिए मात्र जरिया बना। सारी मदद सीधे क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म से अस्पताल पहुंच रही जहां जरूरतमंदों का इलाज किया जा रहा है या एजुकेशन के लिए मदद दी जा रही।’

सोनू ने बताया कि

‘मेरे ऊपर एफसीआरए का उल्लंघन करने का आरोप सरासर गलत है, क्योंकि धन भारत या मेरे फाउंडेशन में आया ही नहीं।

मेरे अकाउंट में एक डॉलर या सेंट या एक पैसा भी नहीं आया। हमने जिन जिन लोगों का इलाज करवाया उससे संबंधित सारे डिटेल्स हमारे पास है।

जैसे हॉस्पिटल, डॉक्टर, यहां तक कि उनके पैन नंबर, फोन नंबर भी हमने अधिकारियों को मुहैया करवाया।

हमारे पास हर एक चीज रिकॉर्ड में है, जैसे हमने किसकी मदद की, कैसे की। हमने सारे दस्तावेज इनकम टैक्स अधिकारियों को सौंप दिया।’

सोनू सूद ने आगे अपने वक्तव्य में बताया कि

‘जब सुबह-सुबह आईटी टीम उनके घर पहुंचीं तो आश्चर्यचकित रहे गए। मैं एक अच्छा होस्ट भी हूं, मैंने उनका स्वागत किया और उनके काम में पूरा सहयोग किया।

मैंने उनसे कहा अगले तीन-चार दिन आप हमारे गेस्ट हैं। आप लोगों ने कई जगह छापे मारे होंगे लेकिन जब आप हमारे यहां से जाएंगे तो कहेंगे ये सबसे शानदार अनुभव था।

जब चार दिनों की कार्रवाई के बाद टीम जाने लगी तो मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने माना कि अब तक सबसे बेस्ट एक्सपिरिएंस रहा।

मैंने कहा मैं आप लोगों को मिस करूंगा तो सबने एक साथ ठहाका लगाया। इसके अलावा उन्होंने मेरे काम की तारीफ करते हुए कहा कि आपके काम के बारे में हमे पता है और आप जो कर रहे हैं वह अद्भुत है।’

हैदराबाद का एक हॉस्पिटल वाला मामला

सोनू सूद हैदराबाद में एक मुफ्त इलाज वाला हॉस्पिटल खोलना चाहते हैं। एक्टर का कहना है कि

‘अगले 50 बरस में सोनू सूद रहें या न रहें जरूरतमंदों का मुफ्त इलाज होते रहना चाहिए. मेरे सपने बड़े हैं और मैं अपने मिशन पर हूं। इसके अलावा स्कूल और अनाथाश्रम को लेकर भी प्लानिंग चल रही है।’

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *