UP: शामली में मुस्लिम लड़को की पीट-पीटकर हत्या। मामूली बात में भीड़ ने लेली जान। इलाके में तनाव!

  • Whatsapp

उत्तरप्रदेश के शामली में गुरुवार 9 सितंबर को यहां एक मुस्लिम युवक को पीट-पीट कर मार डाला गया। पीड़ित परिवार का आरोप है कि 8-10 लड़कों ने मामूली विवाद में उनके बेटे की जान ले ली। वहीं पुलिस का कहना है कि दोनों पक्षों के बीच पुरानी रंजिश थी, जिसके कारण मारपीट हुई।

पुलिस को है आरोपियों की तलाश

पुलिस ने इस मामले के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और बाकी लोगों की तलाश कर रही है।

Read More

शामली जिले के बनत कस्बे में बस स्टैंड है जहां मारपीट की घटना को अंजाम दिया गया। आजतक के शामली संवाददाता शरद मलिक की एक रिपोर्ट के मताबिक, आदर्श मंडी थाना क्षेत्र में स्थित बस स्टैंड पर समीर नाम के युवक का हाथ एक अन्य युवक से टकरा गया।

समीर को सिर के बल पटक दिया

इसी को लेकर दूसरे पक्ष के लोगों ने समीर को घेर लिया और उसके साथ मारपीट करने लगे। समीर जब बेहोश हो गया तब आरोपी मौके से फरार हो गए।

मृतक समीर के एक रिश्तेदार आदिल ने बताया,

“समीर कुछ सामान लेने के लिए गया था। वहां लड़के थे जाटों के, समीर की बांह उनमें से किसी से टकरा गई।

ये तो छोटी से बात थी, हो जाता है। लेकिन उन्होंने समीर के साथ मारपीट कर दी। उसे बुरी तरह पटका सिर के बल।

पहले हम उसे अस्पताल ले गए. वहां कहा कि मुजफ्फरनगर ले जाओ. हम लेकर चले लेकिन रास्ते में उसने दम तोड़ दिया।”

समीर केवल 24 वर्ष का था

जानकारी के मुताबिक समीर की उम्र 24 साल थी और वो टाटा मोटर्स में काम करता था। वो काम से लौट कर घर पहुंचा था और वहां से कुछ सामान लेने बस स्टैंड गया था।

परिजनों ने पुलिस को सूचना दी थी। इसके बाद पुलिस ने शक का पोस्टमॉर्टम कराकर उसे वापस परिजनों को सौंप दिया।

परिजनों ने समीर का अंतिम संस्कार कर दिया है। एसपी शामली सुकीर्ति माधव ने कहा,

“थाना आदर्श मंडी पुलिस को सूचना मिली थी कि कस्बा बनत में समीर नामक युवक का पूर्व के विवाद के चलते कुछ युवकों से झगड़ा हो गया है।

पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और घायल अवस्था में समीर को सरकारी अस्पताल लाया गया।”

रास्ते में ही समीर ने तोड़ दिया दम

जहां डॉक्टरों ने घायल युवक की गंभीर हालत के चलते उसे मुजफ्फरनगर के लिए रेफर कर दिया।

बीच रास्ते ही समीर ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते हुए मुख्य आरोपी वरदान को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि अन्य 7 लोगों की गिरफ्तारी भी जल्द ही सुनिश्चित की जाएगी।”

स्थानीय अखबारों में छपी खबरों के मुताबिक इस घटना से शामली में शांतिपूर्ण तनाव की स्थिति है।

पोस्टमॉर्टम के बाद सुपुर्दे खाक के वक्त इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा।

एक बड़ा तबका इस घटना को मॉब लिंचिंग मान रहा है। वहीं पुलिस इसे पुरानी रंजिश का मामला ही बता रही है।

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *